NPR Full Form In Hindi, एनपीआर का फुल फॉर्म क्या है

आप जानते हैं एनपीआर फुल फॉर्म क्या है आपको पता है कि एनपीआर क्या है आप भारत देश के वासी हैं तो फिर आपको एनपीआर संबंधित सारी जानकारी होनी चाहिए.

यदि आपको नहीं है पता कि एनपीआर का फुल फॉर्म क्या होता है तो फिर इस पोस्ट को पूरा पढ़ लीजिए इस पोस्ट में हमने एनपीआर का क्या मतलब है इस पर विस्तार से बात की है.

मेरा यह मानना है कि हमारे देश में ज्यादातर लोगों को एनपीआर क्या है और एनपीआर का फुल फॉर्म क्या होता है यह पता नहीं होता है यदि आपको भी एनपीआर संबंधित कोई जानकारी नहीं है.

तो फिर आप एक सही पोस्ट पर आए हैं इस पोस्ट में हम एनपीआर संबंधित सारी जानकारी देने का प्रयास करने वाले हैं.

वैसे तो ज्यादातर हमारे देश में जिन्हें एनपीआर के बारे में कुछ भी पता नहीं है वह भी सोशल मीडिया पर एनपीआर संबंधित अफवाह फैलाते रहते हैं कुछ लोग इसके पक्ष में बातें करते हैं तो कुछ लोग एनपीआर के विरोध में बातें करते हैं.

एनपीआर क्या है और इसका मतलब क्या होता है इस पर हम बात करें उससे पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि एनपीआर फुल फॉर्म क्या है तो चलिए सबसे पहले हम आपको एनपीआर का फुल फॉर्म क्या होता है इस पर ही जानकारी देते हैं.

आपको यह भी पढ़ना चाइये

  1. डीपी का फुल फॉर्म क्या है
  2. यूके का फुल फॉर्म क्या है
  3. बिजनेस का फुल फॉर्म क्या है

एनपीआर का फुल फॉर्म क्या है

आप बेहतर तरीके से एनपीआर फुल फॉर्म समझ पाए इसके लिए हम आपको एनपीआर का इंग्लिश में फुल फॉर्म क्या होता है और इसके साथ ही हम आपको एनपीआर का हिंदी में फुल फॉर्म क्या होता है इस पर जानकारी देने वाले हैं.

NPR Full Form In Hindi

NPR Full Form In English: National Population Register

N – National

P – Population

R – Register

NPR Full Form In Hindi: राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर

N – National (राष्ट्रीय)

P – Population (जनसंख्या)

R – Register (रजिस्टर)

एनपीआर को हिंदी में क्या कहते हैं

आपके मन में यदि यह सवाल है कि एनपीआर को हिंदी में क्या कहते होंगे तो चलिए आपको इस सवाल का जवाब दे देते हैं एनपीआर को हिंदी में राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर कहते हैं.

एनपीआर क्या है

एनपीआर फुल फॉर्म क्या होता है इस सवाल का जवाब तो अब आपको मिल ही चुका है चलिए अब हम बात कर लेते हैं एनपीआर क्या है जैसा कि हमने आपको एनपीआर का फुल फॉर्म बताया है की इसका फुल फॉर्म होता है नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर यानी कि देश के नागरिक को का एक दस्तावेज रजिस्टर जिसे हम शॉर्ट में NPR कहते है.

नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर क्या है इसे आपको हम सरल भाषा में समझाने का प्रयास करते हैं नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर देश के सभी नागरिकों का एक रजिस्टर है भारत में रहने वाले सभी नागरिकों को एनपीआर के तहत रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है और इसके साथ ही विदेश में रहने वाले भारतीय नागरिक उन्हें भी रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होगा.

कहने का मतलब यह है कि जिन्होंने भारत की नागरिकता ली है लेकिन वह अभी विदेश में रहते हैं चाय फिर वह किसी काम के लिए रहते हैं या कहीं घूमने गए हो उन्हें भी एनपीआर के तहत रजिस्ट्रेशन अनिवार्य होगा और इसके साथ देश के सभी नागरिकों को रजिस्ट्रेशन अनिवार्य कराना होगा.

एनपीआर की शुरुआत कब हुई है

आपके मन में यदि यह सवाल है कि नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर की शुरुआत कब हुई है तो चलिए हम इसका जवाब आपको दे देते हैं नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर की शुरुआत 2010 में हुई पहली बार 2010 में नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर करवाया गया था.

2010 के बाद अब फिर से 2020 में इस रजिस्टर को करवाया जा रहा है आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहते हैं भारत के असम राज्य को छोड़कर सभी राज्यों में इस रजिस्टर को करवाया जा रहा है 2021 जनगणना से पहले इस रजिस्टर का काम पूरा हो जाने वाला है.

2010 के मुकाबले अलग होगा एनपीआर

इस बार जो नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर है वह 2010 से थोड़ा अलग होने वाला है इस बार रजिस्टर में अब थोड़ी जानकारियां आप से अधिक ली जाने वाली है तो चलिए हम आपको बता देना चाहते हैं कि आपको इस रजिस्टर के तहत अपनी कौन सी जानकारी देनी पड़ेगी.

एनपीआर के तहत आपसे यह जानकारी मांगी जाएगी

1. व्यक्ति का नाम

2. व्यक्ति का परिवार के मुखिया से उसका संबंध

3. माता-पिता का नाम

4. वैवाहिक स्थिति

5. शादीशुदा होने पर पति/पत्नी का नाम

6. जन्म स्थान

7. वर्तमान पता

8. वर्तमान पते पर रहने की अवधि

9. व्यवसाय

10. शैक्षणिक स्थिति

एनपीआर की आवश्यकता क्या है

यह सवाल काफी लोगों के मन में जरूर होगा कि नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर की क्या आवश्यकता है आपको पता ही होगा कि भारत देश में इतने कार्ड हैं जिनसे आपकी पहचान हो सकती है जैसे कि पैन कार्ड, आधार कार्ड, इलेक्शन वोटर आईडी कार्ड तो फिर इस नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर की क्या आवश्यकता है.

नेशनल पापुलेशन रजिस्टर कि देश में इसलिए आवश्यकता है कि जो देश के सही नागरिक हैं उन्हें सरकारी योजनाओं का सही से लाभ पहुंचे आपको पता ही है हमारे देश में कई लोग विदेश से आकर बसने लगते हैं जो मौजूदा समय में देश के नागरिक नहीं है तो ऐसे नागरिकों की पहचान के लिए नेशनल पापुलेशन रजिस्टर की आवश्यकता है.

क्योंकि नेशनल पापुलेशन रजिस्टर में उन सभी व्यक्तियों का डाटा तैयार होता है जो देश के किसी कोने में 6 महीने से अधिक समय से रह रहा हो इसी तरह से देश में जो विदेश से आए हुए लोग हैं जो 6 महीने से अधिक समय से देश में रह रहे हैं तो उनका नेशनल पापुलेशन रजिस्टर में रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य होगा.

राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर का मुख्य उद्देश्य और महत्वपूर्ण बिंदु

भारत सरकार द्वारा कराए जाने वाले राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर का मुख्य उद्देश्य कुछ इस प्रकार है

1. भारत सरकार और राज्य सरकार के द्वारा देश के नागरिकों को दिए जाने वाली सरकारी योजनाओं का सही से लाभ पहुंचाना.

2. राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के द्वारा देश की सुरक्षा में सुधार और देश में अवैध रूप से रहने वाले लोगों की पहचान करना

महत्वपूर्ण बिंदु

1. एनपीआर की प्रक्रिया वर्ष 2010 और 2015 में इस तरह से दो चरणों में आयोजित की गई थी

2. एनपीआर के द्वारा देश के प्रत्येक नागरिक की व्यापक जानकारी और उनके परिवार की भी जानकारी का एक डेटाबेस तैयार करना.

एनआरसी और एनपीआर में क्या फर्क है

बहुत से लोगों के मन में यह शंका है कि एनआरसी और एनपीआर दोनों आपस में जुड़े हुए हैं हालांकि इसमें सत्यता नहीं है क्योंकि हमने जैसा कि आपको बताया कि एनपीआर देश के नागरिकों का एक रजिस्टर है जिसमें देश के प्रत्येक नागरिक को अपनी जानकारी देनी है.

और इसी तरह से एनआरसी का मकसद है देश में अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिकों की पहचान करना अब आप समझ ही गए होंगे कि एनपीआर देश के नागरिकों का एक रजिस्टर है जिसमें उन्हें अपनी जानकारी देनी है वही एनआरसी देश में अवैध रह रहे नागरिकों की पहचान करना है.

एनपीआर फुल फॉर्म: निष्कर्ष

आज की इस पोस्ट में हमने बात की एनपीआर का फुल फॉर्म क्या है इसके साथ ही हमने बात की एनपीआर क्या है हमारे पास जो भी जानकारी NPR संबंधित थी वह इस पोस्ट में हमने आपके साथ शेयर की है हालांकि इंटरनेट पर आप सर्च करेंगे NPR तो इसके संबंधित आपको काफी पोस्ट मिलेगी और उनमें आपको अलग-अलग जानकारी भी एनपीआर संबंधित मिलेगी.

लेकिन आपको हमने इस पोस्ट में वही जानकारी आपके साथ शेयर की है जो एनपीआर संबंधित सही है अब यदि आपके मन में एनपीआर फुल फॉर्म संबंधित कोई भी सवाल है तो वह कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं.

अब अंत में यही कहना चाहूंगा कि आपको हमारी एनपीआर फुल फॉर्म क्या है यह पोस्ट कैसी लगी इसके बारे में आप अपने विचार कमेंट में जरूर शेयर करें इसके साथ ही आपको यदि हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर इसे जरूर साझा करें.

पोस्ट को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here